Breaking
बिना एडमिट कार्ड के भर्ती रैली में नहीं मिलेगा प्रवेश - भर्ती निदेशक         स्टाफ नर्स के भरे जाएंगे 21 पद - जिला रोजगार अधिकारी         उपलब्धियों भरा रहा प्रदेश सरकार का एक साल का कार्यकाल: उप-मुख्यमंत्री         परीक्षा में फेल हुआ विद्यार्थी पार्टी देने की बात कर रहा है : खन्ना         2047 तक विकसित भारत-युवाओं की आवाज विषय पर कार्यशाला आयोजित         विंटर कार्निवाल मनाली का आयोजन 2 जनवरी से 6 जनवरी तक किया जा रहा है         उम्मीदवार लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं वे अपने एडमिट कार्ड प्रिंट कर ले         लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन 15 दिसंबर होगा         भून्तर स्थित नशा मुक्ति केंद्र में मरीज का उपचार वाहय रोगी या आवासीय रोगी के रूप में किया जाता है :अनिता ठाकुर         सोलन विधानसभा क्षेत्र में स्वीप के तहत 11, 12 दिसम्बर के जागरूकता कार्यक्रम         2050 विद्यालय बनेंगे मुख्यमंत्री स्कूल ऑफ एक्सीलेंस         शिवधाम प्रोजेक्ट को पूरा करने का हर संभव प्रयास किया जाएगा:  विक्रमादित्य सिंह         मैक्लोडगंज मॉनेस्टरी के बाहर बनेगा भव्य द्वारभारत और तिब्बती समुदाय: आर.एस बाली         मुख्यमंत्री आउटलुक बिजनेस मैगजीन के ‘चेंजमेकर्स आफ द ईयर-2023’ में शामिल         राज्यपाल ने 7वें माटी सम्मान समारोह में भाग लिया सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण पर दिया बल         देश में इतना बड़ा भ्रष्टाचार, पर कांग्रेस चुप : खन्ना         सुख की सरकार लगातार बन रही दुख की सरकार : बिंदल         सरकारी स्कूलों के 100 बच्चों के लिए आरंभ हुई निशुल्क कोचिंग क्लासेज         सरकार के प्रयासों की हुई देश भर में सराहना: बाली         51 कऱोड़ 22 लाख रुपये की विकासात्मक परियोजना के लोकार्पण व भूमि पूजन

बारदाना पर हुई 6 प्रतिशत जीएसटी बढ़ोतरी को राज्य सरकार वहन करेगी: महेन्द्र सिंह

हिम न्यूज़, शिमला-  बागवानी मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मंत्रिमण्डल ने सेब सीजन को दृष्टिगत बागवानों के हित में महत्वपूर्ण फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि बारदाना पर हुई 6 प्रतिशत की जीएसटी बढ़ोतरी को राज्य सरकार वहन करेगी।

उन्होंने कहा कि बागवानों को बारदाने पर 18 प्रतिशत जीएसटी देना पड़ रहा था, जिसके दृष्टिगत राज्य सरकार ने बागवानों को जीएसटी में 6 प्रतिशत की छूट देते हुए बढ़ी हुई जीएसटी की दर को स्वयं वहन करने का निर्णय लिया है।

बागवानों को अब बारदाना 12 प्रतिशत  जीएसटी की पुरानी दर पर ही उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में एचपीएमसी व हिमफैड को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि तीन निजी कम्पनियां विभाग से सम्बद्ध है, जो बागवानों को बारदाना उपलब्ध करवाती है। वह भी पुरानी जीएसटी दरों पर ही बागवानों को बारदाना उपलब्ध करवाएगी।

बागवानी मंत्री ने कहा कि मंत्रिमण्डल ने वर्ष 2022 के लिए सेब, आम और नीम्बू प्रजाति के फल जैसे किन्नू, माल्टा, संतरा तथा गलगल की खरीद के लिए मण्डी मध्यस्थता योजना के विस्तार को मंजूरी प्रदान करने के साथ गत वर्ष की तुलना में खरीद में समर्थन मूल्य में एक रुपये प्रति किलोग्राम बढ़ोतरी की है।

इस अवसर पर जुब्बल-कोटखाई क्षेत्र के बागवानों का एक प्रतिनिधिमण्डल भी बागवानी मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर से मिला।

बागवानी मंत्री ने प्रतिनिधिमण्डल को आश्वासन दिया कि राज्य सरकार बागवानों की समस्याओं का समाधान करने के लिए संवेदनशील है और सेब सीजन के दौरान बागवानों को किसी प्रकार की समस्या नहीं आने दी जाएगी और उनकी समस्याआंे का प्राथमिकता के आधार पर समाधान किया जाएगा।