Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

सतपाल सिंह सत्ती ने 267 व्यक्तियों को प्रदान किए पेंशन के स्वीकृति पत्र

हिम न्यूज़ ऊना-छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने ऊना के वार्ड नंबर 6 में आज 267 पात्र व्यक्तियों को पेंशन के स्वीकृति पत्र प्रदान किए। अपने संबोधन में सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने बुढ़ापा पेंशन की आयु सीमा घटाकर 60 वर्ष कर दी है, जिससे जिला ऊना में नए 11,143 पात्र व्यक्तियों को पेंशन का लाभ मिला है। जिनमें से 3 हजार से ज्यादा लाभार्थी ऊना सदर विस क्षेत्र के हैं।

इसी कड़ी में 60 वर्ष से अधिक उम्र के लाभार्थियों को पेंशन के स्वीकृति पत्र प्रदान किए गए हैं। सत्ती ने आयु सीमा 70 वर्ष से घटाकर 60 साल करने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने पहली जुलाई से सभी पात्र व्यक्तियों को पेंशन देने का फैसला किया है, जो ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि अब जिला ऊना में प्रदेश सरकार 58 हजार से अधिक व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन का लाभ दे रही है।

छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में वर्तमान प्रदेश सरकार ने जन कल्याण के लिए अनेकों योजनाएं चलाई हैं। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की सरकार ने 125 यूनिट तक बिजली के बिल माफ कर दिए हैं। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में पानी का बिल पूरी तरह से माफ किया है। महिलाओं को सरकारी बसों के किराए में 50 प्रतिशत की छूट प्रदान की है।

गरीब को इलाज की चिंता न हो, इसके लिए हिमकेयर जैसी योजना शुरू की। इस योजना में एक परिवार के 5 लाख रुपए तक के इलाज का खर्च सरकार वहन करती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने फ्री में गैस कनेक्शन तथा जल जीवन मिशन के तहत फ्री में पानी के कनेक्शन भी प्रदान किए हैं। सत्ती ने सभी से इन जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने की अपील की।

इस अवसर पर नगर परिषद ऊना की अध्यक्ष पुष्पा देवी, पवन कपिला, जनक राम खजांची, डॉक्टर सुभाष, विनोद पुरी, प्रवीण पुरी, ममता कश्यप, उर्मिल चौधरी, इंदु, कैप्टन चरणदास, बलबिंदर, भाजपा जिला महामंत्री राजकुमार पठानिया, बलविंदर गोल्डी, संतोख अरोड़ा, गणेश सांभर, विनय शर्मा, सीमा दत्ता, रितु आसोतरा, प्रवीण पुरी, मुनीष कपिला, शुभम सैणी, शिवम, केतन, सचिन, खामोश जैतिक, विकास पुरी, सुजीत सैणी तथा विजय साहनी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।