Breaking
डाक मतपत्र से वोट डाल सकेंगे आवश्यक सेवाओं में लगे मतदाता: डीसी         बैलेट पेपर एवं पोस्टल बैलेट पेपर प्रिंट करने के संबंध में बैठक आयोजित         उपायुक्त ने बीडीओ टूटू अनमोल को यूपीएससी परीक्षा पास करने पर दी बधाई         आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 7.85 करोड़ रुपये की जब्ती         अग्निवीर की ऑनलाइन परीक्षा 22 अप्रैल से         अपनी खीज मिटाने में जुटे कांग्रेस नेता - बिंदल         दुर्गाष्टमी के अवसर पर राजभवन में फलाहार ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन         बिजली रहेगी गुल         कांग्रेस पार्टी की नियत में खोट, 1500 महिलाओं को देना की इच्छा नहीं : त्रिलोक         भाजपा का संकल्प पत्र मोदी की गारंटी : बिंदल         बायोलचिम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने किया किसान संगोष्ठी का सफल आयोजन         भाजपा संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने कार्यकर्ताओं को चुनावी टिप्स         कंगना के साथ भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने की दलाई लामा से मुलाकात         मतदाता पहचान पत्र बनाने के लिए नए मतदाता 4 मई तक कर सकते हैं आवेदन         आधुनिक हिमाचल के निर्माण में स्व. वीरभद्र सिंह ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका : यशवंत छाजटा         केंद्रीय विद्यालय सलोह में रिक्तियों के लिए आवेदन 25 अप्रैल तक         आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारी व कर्मचारी पोस्टल बेल्ट सुविधा से कर सकेंगे मतदान         परस राम धीमान और समर्थकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह से की मुलाकात         राहुल गाँधी की न्याय गारंटियों का प्रदेशभर में प्रचार करेंगी एनएसयूआई         भाजपा ने 1500 रुपये रुकवाकर महिलाओं को किया अपमानित : कांग्रेस

जिला स्तरीय लोकगीत प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण 26 तक

हिम न्यूज़ हमीरपुर। भाषा एवं संस्कृति विभाग मार्च के पहले सप्ताह में कनिष्ठ और वरिष्ठ वर्ग की जिला स्तरीय लोकगीत प्रतियोगिता आयोजित करने जा रहा है। इस प्रतियोगिता के लिए 26 फरवरी तक सलासी स्थित जिला भाषा अधिकारी के कार्यालय में पंजीकरण करवाया जा सकता है। जिला भाषा अधिकारी निक्कू राम ने बताया कि इस प्रतियोगिता में जिला हमीरपुर से संबंध रखने वाले कलाकार भाग ले सकते हैं। कनिष्ठ वर्ग में 16 वर्ष तक की आयु के कलाकार और वरिष्ठ वर्ग में इससे अधिक आयु के कलाकार भाग ले सकते हैं। प्रतिभागियों को आयु एवं स्थायी निवास के सत्यापन हेतु कोई भी प्रमाण पत्र या आधार कार्ड आदि की प्रतिलिपि साथ लानी होगी।

प्रतियोगिता दो श्रेणियों में आयोजित होगी। पहली श्रेणी में विशुद्ध लोकसंगीत होगा, जबकि दूसरी श्रेणी में समकालीन एवं आधुनिकता लिए हुए विलयात्मक लोकसंगीत रखा गया है। जिला भाषा अधिकारी ने बताया कि विशुद्ध लोक संगीत पर आधारित प्रतियोगिता में प्रतिभागियों से यह अपेक्षा रहेगी कि वे लोकसंगीत की मौलिकता को प्राथमिकता दें। जिस प्रकार लोकसंगीत परंपरागत रूप से गाया या बजाया जाता है, उसी रूप में इसे प्रदर्शित करें। विलयात्मक लोकसंगीत की श्रेणी में ऐसे लोकसंगीत को रखा गया है, जिसमें परंपरागत लोकसंगीत के साथदृसाथ आधुनिक संगीत का विलय हो।

उन्होंने बताया कि विशुद्ध लोकसंगीत की श्रेणी का हिमाचली लोकसंगीत कई विषयों पर आधारित है, जिसका मनुष्य के जीवन से गहरा संबंध है। इन लोकगीतों का विषय सामान्य जीवन से लेकर इतिहास, धर्म, पुराण, प्रेम, वीर गाथाओं, देवस्तुतियों, ऋतुप्रभात और सामाजिक बंधनों, सामाजिक उत्सवों आदि से संबंधित है। इसमें हर्ष और वेदना दोनों ही प्रकार की अनुभूति होती है।

जिला भाषा अधिकारी ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की लोक संस्कृति बहुत ही समृद्ध है, लेकिन आधुनिकता की दौड़ में हिमाचल के लोक गीत अपनी परंपरा और मौलिकता को भूलते नजर आ आ रहे हैं। भाषा एवं संस्कृति विभाग प्रदेश की समृद्ध लोक संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्द्धन तथा लोक संगीत को बढ़ावा देने के लिए सतत प्रयासरत है। उन्होंने बताया कि हिमाचल सरकार द्वारा लोक संगीत के संरक्षण एवं संवर्द्धन के उद्देश्य से लता मंगेशकर स्मृति राज्य सम्मान तथा जिला स्तरीय एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिताएं आयोजित करने की नीति बनाई है।

जिला भाषा अधिकारी ने बताया कि जिला स्तरीय लोकगीत प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागी को ग्यारह हजार रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा और उसे राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में जिला हमीरपुर का प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया जाएगा। उन्होंने जिला के लोक कलाकारों से इस प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण करवाने की अपील की है।