Breaking
डाक मतपत्र से वोट डाल सकेंगे आवश्यक सेवाओं में लगे मतदाता: डीसी         बैलेट पेपर एवं पोस्टल बैलेट पेपर प्रिंट करने के संबंध में बैठक आयोजित         उपायुक्त ने बीडीओ टूटू अनमोल को यूपीएससी परीक्षा पास करने पर दी बधाई         आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 7.85 करोड़ रुपये की जब्ती         अग्निवीर की ऑनलाइन परीक्षा 22 अप्रैल से         अपनी खीज मिटाने में जुटे कांग्रेस नेता - बिंदल         दुर्गाष्टमी के अवसर पर राजभवन में फलाहार ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन         बिजली रहेगी गुल         कांग्रेस पार्टी की नियत में खोट, 1500 महिलाओं को देना की इच्छा नहीं : त्रिलोक         भाजपा का संकल्प पत्र मोदी की गारंटी : बिंदल         बायोलचिम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने किया किसान संगोष्ठी का सफल आयोजन         भाजपा संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने कार्यकर्ताओं को चुनावी टिप्स         कंगना के साथ भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने की दलाई लामा से मुलाकात         मतदाता पहचान पत्र बनाने के लिए नए मतदाता 4 मई तक कर सकते हैं आवेदन         आधुनिक हिमाचल के निर्माण में स्व. वीरभद्र सिंह ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका : यशवंत छाजटा         केंद्रीय विद्यालय सलोह में रिक्तियों के लिए आवेदन 25 अप्रैल तक         आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारी व कर्मचारी पोस्टल बेल्ट सुविधा से कर सकेंगे मतदान         परस राम धीमान और समर्थकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह से की मुलाकात         राहुल गाँधी की न्याय गारंटियों का प्रदेशभर में प्रचार करेंगी एनएसयूआई         भाजपा ने 1500 रुपये रुकवाकर महिलाओं को किया अपमानित : कांग्रेस

15 जुलाई तक करवाएं किसान फसल का बीमा- अतुल डोगरा

हिम न्यूज़,   हमीरपुर –उप निदेशक कृषि अतुल डोगरा ने बताया कि किसानों को व्यापक आधार पर अप्रत्याशित घटनाओं जैसे बाढ़, सूखा, जल भराव, ओला वृष्टि आदि से फसल को होने वाले नुकसान की स्थिति में सहायता प्रदान करने हेतू सरकार द्वारा खरीफ मौसम 2022-23 के दौरान रिवैम्पड प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना शुरु की गई है।

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंर्तगत खरीफ मौसम मे दो फसलें मक्की व धान अधिसूचित की गई हैं। मक्की फसल के लिये जिला हमीरपुर की सभी तहसीलें व उप-तहसीलें तथा धान फसल के लिये तीन तहसीलें हमीरपुर, नादौन व भोरंज अधिसूचित की गई हैं। इस सम्बध में सरकार द्वारा जारी अधिसूचना कृषि विभाग की वैबसाईट  www.hpagriculture.com  पर भी उपलब्ध है।

उप निदेशक कृषि  ने बताया कि योजना का मुख्य उद्ेश्य प्रभावित किसानों को वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाना तथा उनकी आय को सुनिश्चित करना है ताकि वे अपने कृषि कार्य को सुचारु ढंग से जारी रख सकें।
डोगरा ने बताया कि सरकार द्वारा अधिसूचित तहसीलों व उप तहसीलों मे अधिसूचित फसलें,मक्की व धान उगाने वाले बटाईदारों और काश्तकारों सहित सभी किसान बीमा करवा सकते हैं। योजना के अंतर्गत सभी ऋणी किसानों को वितीय संस्थाओं द्वारा स्वत: ही बीमित किया जाएगा।

यदि कोई ऋणी किसान योजना का लाभ नहीं उठाना चाहता है तो वो इस बारे अपना घोषणा पत्र सम्बन्धित बैंक शाखा में जमा करवा सकता है। ऋणी पात्र किसान अपना फोटो पहचान पत्र आधार कार्ड व अपनी भूमि के कागजात सहित बीमा कम्पनी या नजदीकी लोक मित्र केन्द्रों, बैंकों या आँनलाईन के माध्यम से अपनी फसलों का बीमा करवा सकते है।

एग्रीक्ल्चर इंश्योरेंस कम्पनी आफ इंडिया लि0 अधिसूचित

उन्होंने बताया कि जिला हमीरपुर में खरीफ फसल 2022-23 के लिए एग्रीक्ल्चर इंश्योरेंस कम्पनी आफ इंडिया लि0 अधिसूचित की गई है। किसान द्वारा दोनों फसलों के लिए देय प्रीमियम 600 रु प्रति हैक्टर (24 रुपए प्रति कनाल) है। डोगरा ने  बताया कि फसल बीमा करवाने हेतु अन्तिम तिथि 15 जुलाई 2022 निर्धारित की गई है तथा  बीमित राशि 30 हजार रुपए प्रति हैक्टर (1200 रुपए प्रति कनाल) है।

डोगरा ने जिला के समस्त किसानों से आग्रह किया है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही इस महत्वपूर्ण योजना का लाभ उठाने हेतु 15 जुलाई 2022 से पहले अपनी फसलों का बीमा करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि खरीफ 2021-22 मौसम में 1718 किसानों की फसलों को प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान हुआ तथा बीमा कम्पनी द्वारा 5.20 लाख रुपए की राहत राशि प्रभावित किसानों में आवंटित की गई।

अधिक जानकारी हेतु किसान बीमा कम्पनी (एआईसी) के टोलफ्री न0 1800-116-515 तथा मोबाइल नंबर 8219765301(अजय कुमार क्षेत्र पर्यवेक्षक जिला हमीरपुर)पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त किसी प्रकार के परामर्श के लिए  विकास खण्ड के कृषि प्रसार अधिकारी/कृषि विकास अधिकारी/विषयवाद विशेषज्ञ (कृषि) से सम्पर्क कर सकते हैं।