Breaking
चुनावों के लिये भाजपा नेताओं के पास कोई मुद्दा नही : संजय अवस्थी         मतदाता पहचान पत्र न होने पर वैकल्पिक दस्तावेज के साथ कर सकते हैं मतदान - उपायुक्त         कांगड़ा जिला में चार स्थान मतगणना के लिए प्रस्तावित - डीसी         कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें

तम्बाकू सेवन के दुष्प्रभाव पर जिला स्तरीय कार्यशाला

हिम न्यूज़,  रिकांगपिओ- हिमाचल प्रदेश में तम्बाकू नियंत्रण प्रगामी केंद्र (कैच) व डाॅ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल काॅलेज टांडा के सामुदायिक औषधि विभाग के संयुक्त तत्वाधान में आज जिला किन्नौर स्थित मुख्यालय रिकांग पिओ में जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता कार्यवाहक उपायुक्त जिला किन्नौर सुरेंद्र सिंह राठौर ने की।

उन्होंने कहा कि जिले को तम्बाकू मुक्त बनाने के लिए इस तरह की कार्यशाला का आयोजन समय-समय पर करना आवश्यक है तभी जिले के सभी सार्वजनिक स्थानों, संस्थानों, गांव व शहर को तम्बाकू रहित किया जा सकता है।

उपायुक्त ने कहा कि स्वस्थ जीवन के लिए लोगों को तम्बाकू के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए ताकि स्वस्थ समाज का निर्माण किया जा सके।

इस अवसर पर कैच संस्था की जिला समन्वयक डाॅ. साक्षी सपहिया ने पावर प्वांइट प्रसेन्टेशन के माध्यम से उपस्थित लोगों को कोटपा धूम्रपान निषेध अधिनियम के बारे में विस्तृत जानकरी दी।

उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के 4 जिलों लाहौल-स्पीति, कांगड़ा, चम्बा व किन्नौर जिले को तंबाकू मुक्त बनाने के लिए गत वर्ष से विशेष अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत लोगों को सार्वजनिक स्थानों, संस्थानों, शैक्षणिक संस्थानों, गांव व शहर में तंबाकू उत्पादों के प्रयोग से रोकना है व साथ ही लोगों को व्यक्तिगत रूप से तंबाकू के दुष्परिणामों के बारे में जागरूक करना है।

क्षेत्रीय अस्पताल के चिक्तिसक डाॅ. कविराज ने बताया कि वर्ष 2021-22 के दौरान जिले में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत 5077 लोगों के सार्वजनिक स्थानों में तम्बाकू का उपयोग करने पर चालान किए गए।

कार्यशाला में जिला परिषद सदस्य हितैष नेगी, पुलिस अधीक्षक अशोक रत्न, पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधि, उपनिदेशक प्रारम्भिक शिक्षा अशोक नेगी, बाॅर काउंसिल के अध्यक्ष राम सिंह नेगी, जिले के विभिन्न हितधारकों सहित व्यापार मंडल के अध्यक्ष सूरज भान उपस्थित थे।