Breaking
चुनावों के लिये भाजपा नेताओं के पास कोई मुद्दा नही : संजय अवस्थी         मतदाता पहचान पत्र न होने पर वैकल्पिक दस्तावेज के साथ कर सकते हैं मतदान - उपायुक्त         कांगड़ा जिला में चार स्थान मतगणना के लिए प्रस्तावित - डीसी         कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें

एडीसी ऊना डा0अमित शर्मा ने एनआईटी के छात्रों को दी प्रधानमंत्री गतिशक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान की जानकारी

हिम न्यूज़, हमीरपुर– प्रधानमंत्री गतिशक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान के बारे में एनआईटी हमीरपुर के छात्रो को संवेदनशील बनाने के साथ-साथ जागरूक करने के संबंध में शुक्रवार को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर में संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया।

संवाद कार्यक्रम में एडीसी ऊना डा0 अमित शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस अवसर पर छात्रों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने पीएम गति शक्ति योजना के उद्देश्यों तथा इस योजना से होने वाले लाभ पर प्रकाश डाला।

संस्थान के विधार्थियों के साथ संवाद करते हुए उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना रेल और सडक़ सहित 16 मंत्रालयों को जोडऩे वाला एक डिजिटल मंच है। यह योजना उद्योगों की प्रतिस्पर्धा को बढ़ाएगी और भविष्य में आर्थिक क्षेत्रों के निर्माण के लिए नई सम्भावनाओं को विकसित करने में भी काफी मददगार साबित होगी।

उन्होंने बताया कि इस योजना को पॉवर ऑफ स्पीड का भी नाम दिया गया है जिसे इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ जोडऩे का प्रयास किया जा रहा है ।

संवाद कार्यक्रम में डीन स्टूडेंट वेल्फैयेर प्रदीप कुमार, केपीएमजी की तरफ से दीपक बिश्ट, हिमाचल प्रदेश जीआईओ इंफोर्मेटिक स्पेस केंद्र की तरफ से मनोज शर्मा के साथ संस्थान के सभी यूजी प्रथम वर्ष, पीजी और पीएचडी छात्रों ने भाग लिया ।