Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार 17 मई 2022 को उद्घाटन करेंगे

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार 17 मई 2022 को शिलांग, मेघालय में दिव्‍यांग व्यक्तियों के कौशल विकास, पुनर्वास और सशक्तिकरण के लिए समग्र क्षेत्रीय केंद्र (सीआरसी) की सेवाओं का उद्घाटन करेंगे।

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री सुश्री प्रतिमा भौमिक, मेघालय सरकार के समाज कल्याण मंत्री  किरमेन शैला, मेघालय के सांसद श्री विंसेंट एच. पाला, पूर्वी खासी हिल्स जिले की विधायक माजेल अम्पारिन लिंगदोह भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

अंजलि भवरा (आईएएस), सचिव, दिव्‍यांग व्‍यक्तियों का सशक्तिकरण विभाग, भारत सरकार, श्रीमती एस.बी.मारक (एमसीएस) दिव्‍यांगजन आयुक्‍त, मेघालय सरकार, श्री संपत कुमार, आईएएस, प्रधान सचिव, समाज कल्याण विभाग, मेघालय सरकार, श्री नचिकेता राउत, निदेशक, एनआईईपीएमडी, चेन्नई, डॉ. रोशन बिजली, निदेशक और नोडल अधिकारी, सीआरसी (कोझीकोड और शिलांग) और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

सीआरसी-शिलांग सरकार मेघालय सरकार द्वारा मोनफोर्ट बिल्डिंग, धनखेती शिलांग में दी गई लगभग 10 एकड़ भूमि पर स्थित है। यह सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग के तहत नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर एम्पावरमेंट ऑफ पर्सन ऑफ मल्टीपल डिसएबिलिटीज (एनआईईपीएमडी), चेन्नई के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत काम कर रहा है। इसका उद्देश्‍य मेघालय राज्य में विकलांग व्यक्तियों (पीडब्ल्यूडी) के लिए आवश्यक संसाधन और सेवाओं का सृजन करना है।

भारत सरकार ने  देश के विभिन्न हिस्सों में, विशेष रूप से पूर्वोततर राज्यों में सीआरसी स्थापित किए हैं। शिलांग में स्‍थापित सीआरसी ऐसी ही 20वीं संस्था है जो 19 जुलाई 2021 से कार्य कर रही है।