Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

सुरेश कश्यप ने दिग्विजय सिंह और राहुल गांधी पर साधा निशाना

हिम न्यूज़ शिमला-भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा सेना का अपमान करने और राहुल गांधी द्वारा उनके बयां को निजी बताकर पल्ला झाड़ने पर जमकर फटकार लगायी।

सुरेश कश्यप ने राहुल गांधी पर सीधा निशाना साधते हुए सवाल पूछा कि राहुल गांधी, आप हजारों किलोमीटर साथ चलने के बाद भी दिग्विजय सिंह को भारतीय सेना के प्रति सम्मान करना क्यों नहीं सीखा सके? राहुल गांधी के साथ दिग्विजय सिंह कन्याकुमारी से चलकर जम्मू कश्मीर पहुंच गए।

देश की जनता सेना की शहादत का हिसाब नहीं मांगती बल्कि उनके बलिदान को सलाम करती है। यही भारत की परम्परा भी रही है। हम सब लोग देश के लिए जीते हैं और सेना के जवान और अधिकारी देश के लिए शहीद होते हैं।

कश्यप ने राहुल गांधी से सवाल पूछते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं के निजी विचार पर सवाल नहीं है, बल्कि कांग्रेस पार्टी को लेकर गंभीर संवाल है।

  • आज के कांग्रेस नेताओं की ट्रेनिंग क्या है?
  • आज के कांग्रेस नेताओं का सेना के प्रति सम्मान का स्तर क्या है?
  • कांग्रेस पार्टी आतंकवाद के उपर अपने रूख को स्पष्ट करे?
  • देश की सुरक्षा के नाम पर अपने रूख को स्पष्ट करे?

आज सेना के बड़े-बडे अधिकारी भी कह रहे हैं सेना के इंस्टीच्यूशनल रिस्पेक्ट पर सवाल खड़े नहीं करने चाहिए। आज आतंकवाद एक बहुत बड़ी चुनौती है। सेना के जवान पाकिस्तानी सीमा से लेकर चीन की सीमा पर देश की सुरक्षा कर रहे हैं। क्या सेना के जवानों के लिए सम्मान के दो शब्द भी नहीं बोल सकते?

कश्यप ने राहुल गांधी द्वारा पहले दिए गए विवादित टिप्पणियों को याद कराते हुए कहा कि क्या राहुल गांधी उन टिप्पणियों को वापस लेंगे? क्या उसके लिए माफी मांगेगे?

  • 16 दिसंबर 2022 को राजस्थान के दौसा में राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कहा था कि चीनी सैनिक भारत के सैनिकों को ‘पीट’ रहे हैं। ये भारतीय सेना के लिए बहुत ही अपमानजनक शब्द थे। राहुल गाँधी ने गलत बयानी भी की थी, क्योंकि भारतीय सेना ने उस समय कमाल का शौर्य दिखाया था।
  • 23 जून 2022 को गलवान मुद्दे पर राहुल गांधी ने ट्वीट किया था कि क्या चीन ने भारतीय जमीन पर कब्जा किया है? जबकि भारतीय सेना ने चीन को कब्जा करने से रोका था और उन्हें पीछे धकेला था, तब राहुल गांधी ने इस प्रकार का ट्वीट किया था। गलवान की घटना में कर्नल स्तर के अधिकारी सीमा की रक्षा करते हुए शहीद हुए थे और भारतीय सेना ने चीनी सैनिकों को पीटा था जिससे चीनी सैनिक हताहत भी हुए थे।
  • 6 अक्टूबर 2016 को राहुल गांधी ने सेना की वीरता को खून की दलाली कहा था। यह उस समय बयान दिया गया था, जब सर्जिकल स्ट्राइक को सफलता पूर्वक अंजाम देने के लिए भारतीय सेना की चारों ओर तारीफ हो रही थी।
  • राहुल गांधी जेएनयू जाकर संसद पर हमला करने वाले मास्टर माइंड अफजल गुरू की बरसी मनाने वाले “टूकड़े टूकड़े गैंग” के साथ खड़े हुए और उनको अपना नैतिक समर्थन दिया था।
  • राहुल गांधी ने अमेरिका के राजूदत से कभी कहा था कि अन्य आतंकवाद की तुलना में हिन्दू आतंकवाद कहीं ज्यादा खतरनाक है।

राहुल गांधी के साथ चलने वाले नेताओं में दिग्विजय सिंह का रिकार्ड भी कुछ ऐसा ही है-

  • दिग्विजय सिंह ने जाकिर नायक को शांति का दूत बताया था।
  • दिग्विजय सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी कहा थे।
  • बाटला हाउस कांड में जब आतंकवादी मारे गए थे तब दिग्विजय सिंह आजमगढ़ तक जाकर उनके परिवार से मिले थे और इस एनाकांउटर सवाल खड़ा किया था, जबकि तत्कालीन मनमोहन सिंह की सरकार ने इस मुठभेड़ में शहीद हुए इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा को अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था।
  • सर्जिकल स्टाइक पर दिग्विजय सिंह का यह कोई नया नहीं बल्कि उनका पुराना राग है। 2015 में कांग्रेस नेता पी चिदाम्बरम ने अखबारों में आर्टिकल लिखा था कि कश्मीर के लोग स्वायत्ता की मांग करते हैं, उनका स्वयत्तता का मतलब आजादी से नहीं है।
  • मणिशंकर अय्यर सहित अन्य कांग्रेस नेता भी इस तरह के विवादित बयान बार-बार दिए हैं। कांग्रेस नेताओं द्वारा सेना के बड़े-बड़े अधिकारियों का अपमान भी किया गया।
  • कांग्रेस नेता और सलमान खुर्शीद ने “सनराइज ओवर अयोध्या” पुस्तक में लिखा है कि हिन्दुत्व को इस रुप में बढ़ाय जा रहा है जैसे आतंवादी संगठन “बोको हराम” हो।

कश्यप ने कहा कि राहुल गांधी जब भी कांग्रेस नेताओं के बयान पर फंसते हैं, तो उनका सीधा जवाब होता है कि यह उनका निजी विचार है। राहुल गांधी यह भी कह सकते थे कि कांग्रेस नेताओं ने जो भी आपत्तिजनक बयान दिए हैं, उसके लिए हम शर्मिंदा हैं और माफी मांगते हैं। उन्होंने राहुल गांधी को नसीहत दी कि भारतीय सेना देश के लिए बहुत बड़ा एसेट है और उनके बलिदान पर हर भारतीय को गर्व है। हरेक राजनीतिक दल को राजनीति से ऊपर उठकर भारतीय सेना का सम्मान करना चाहिए।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस मीडिया प्रभारी जयराम रमेश का वीडियो देखा जिसमें वे एक पत्रकार को फिजिकली सवाल करने से रोक रहे थे जबकि दिग्विजय सिंह जवाब देने के लिए उतने ही उत्साहित नजर आ रहे थे। ऐसा क्यों, क्योंकि कांग्रेस नेताओं को मालूम है कि उनका रुख स्पष्ट नहीं है। इस कारण कांग्रेस पार्टी में ऐसी समस्याएं आती रहती हैं।