Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

लाभदायक सिद्ध होगी कोरिया प्रतिनिधि मंडल की संवाद बैठक-राकेश प्रजापति

हिम न्यूज़ शिमलाः-कोरिया गणराज्य और हिमाचल प्रदेश के मध्य निवेश प्रोत्साहन को लेकर  निदेशक उद्योग विभाग राकेश कुमार प्रजापति ने आज शिमला स्थित मरीना होटल में कोरिया गणराज्य से निवेश और आर्थिक विकास में समन्वय स्थापित करने के संबंध में कोरिया गणराज्य से आए 11 सदस्य प्रतिनिधिमंडल के साथ परस्पर संवाद बैठक में व्यक्त किए।

राकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि इस संबंध में परस्पर प्रेजेंटेशन के माध्यम से हिमाचल व कोरिया में निवेश के अवसर के संबंध में प्रतिनिधिमंडल को जानकारी प्रदान की गई। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के मध्य निवेश प्रोत्साहन को लेकर संवाद कायम किया गया। राकेश कुमार प्रजापति ने अपनी प्रेजेंटेशन में हिमाचल प्रदेश में ऊर्जा उपलब्धता, एकल खिड़की प्रणाली, आनलाईन सेवा, औद्योगिक पॉलिसी, व्यापार सुगमता की संभावनाओं, स्वयं प्रमाणन प्रणाली पर प्रतिनिधिमंडल को जानकारी प्रदान की।

उद्योग विभाग के निदेशक ने बताया कि 3.41 अरब का निर्यात हिमाचल द्वारा साउथ कोरिया को किया जा रहा है। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल से प्रदेश में स्थापित होने वाले बल्क ड्रग पार्क, मेडिकल डिवाइस, इलेक्ट्रिक पार्क और इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर और एग्रो फूड प्रोसेसिंग क्लस्टर में निवेश के लिए आमंत्रित किया।  उन्होंने बताया कि आज की यह चर्चा बैठक अत्यंत सार्थक रही और आने वाले समय में परस्पर निवेश के लिए यह अत्यंत कारगर साबित होगी।

उन्होंने कोरिया प्रतिनिधिमंडल द्वारा पूछे गए प्रश्न के उत्तर में बताया कि प्रदेश सरकार को बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ औद्योगिक जोन को अमृतसर-कलकत्ता-कोरिडोर से जोड़ने की स्वीकृति मिल चुकी है, जिससे आने वाले समय में औद्योगिक निवेश व उद्यमियों को उद्योग स्थापना तथा उत्पाद को विभिन्न क्षेत्रों तक भेजन में किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होगी।  उन्होंने कहा कि भारत व कोरिया के मध्य होने वाले निर्यात में और अधिक इज़ाफा होगा तथा विभिन्न अन्य क्षेत्र में भी परस्पर निर्यात बढ़ेगा।

कोरिया गणराज्य दूतावास के व्यवसायिक सम्बद्ध कार्यों के प्रतिनिधि क्वांग सिओक यांग ने बताया कि कोरिया गणराज्य व हिमाचल में परस्पर समन्वय के लिए आज की बैठक काफी महत्वपूर्ण है। साथ ही साथ भविष्य में भारत और कोरिया के बीच नए अवसरों व संबंधों में भी मजबूती बढ़ेगी।

कोरिया प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश में स्थापित होने वाले बल्क ड्रग पार्क, मेडिकल डिवाइस, इलेक्ट्रिक पार्क और इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग कल्सटर और एग्रो फुड प्रोसेसिंग कल्सटर में निवेश के लिए इच्छा जताई।

कोरिया प्रतिनिधिमंडल द्वारा कॉरपरेट सामाजिक दायित्व के तहत अस्पतालों व स्कूलों के लिए 21 पोर्टेबल एयर प्योरीफायर, मास्क पैक, एन-95 मास्क, पोषक व स्वास्थ्य देखभाल उत्पाद उप-निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. रमेश चंद को दिए।

इस अवसर पर अतिरिक्त नियंत्रक स्टोर सुनीता कप्टा, संयुक्त निदेशक उद्योग विभाग नरेश कुमार, अतिरिक्त निदेशक उद्योग तिलक राज शर्मा, संयुक्त निदेशक उद्योग ठाकुर सिंह नेगी व रमेश वर्मा, उप-निदेशक उद्योग दीपिका खत्री, उप-निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. रमेश चंद, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र योगेश गुप्ता,  कोरिया गणराज्य दूतावास में कर मामलों से सम्बद्ध जीमिन ली, निदेशक कोरिया प्लस इन्वेस्ट इंडिया जेइ हो यो, जुनहा बिन, म्युंगले चोइ, योंग होली, योंग हूं, स्योकचन पार्क, होंग इकली, संुग छंग हा, सरकार एवं उद्योग सम्पर्क विशेषज्ञ (कोटरा) मेघना जयन एवं भारत कोरिया व्यापार समन्वय केन्द्र (कोटरा) के प्रबंधक सुनजंग किम भी उपस्थित थे।