Breaking
गांधी और शास्त्री को दी श्रद्धांजली, भजन कीर्तन के साथ निकाली प्रभात फेरी         शिमला ग्रामीण युवा मोर्चा अध्यक्ष सुमित ठाकुर ने बनाई कार्यकारिणी, जुझारू युवाओं को मौका         भाजपा ने प्रदेश भर में चलाया स्वच्छता पखवाड़ा : बिंदल         पुलिस विभाग में आरक्षियों के 1226 पद भरने की स्वीकृति         विधायक नीरज नैय्यर की माता की रस्म क्रिया में शामिल हुए मुख्यमंत्री         मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय मैराथन (रेड रन) का शुभारम्भ किया         राज्यपाल ने हरित एवं स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में एकजुट प्रयासों पर बल दिया         रैत में  छात्राओं की जिला स्तरीय अंडर 19 खेलकूद प्रतियोगिता का शुभारंभ         अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्र और शिक्षक किए जाएंगे सम्मानित:शिक्षा मंत्री         कांग्रेस के नेता लगातार जवाब देने से भाग रहे हैं : बिंदल         कांगड़ा जिला में विभिन्न योजनाओं के तहत 13500 महिलाएं लाभांवित: पठानिया         सौर ऊर्जा परियोजनाओं से उत्पादित बिजली की 25 वर्षों तक खरीद करेगी प्रदेश सरकारः मुख्यमंत्री         ऋण के मामलों को मंजूर करने में देरी न करें बैंक: एडीसी         ट्रांसजेंडर को समाज की स्वीकृति के साथ स्वयं की पहचान चाहिए-धनंजय चौहान         स्कूली छात्रा को अश्लील गालियां देने और अश्लीलता भरे ईशारे करने के दोषी को कठोर कारावास एवं जुर्माना         केन्द्रीय अंतर मंत्रालय दल ने किया वर्षा प्रभावित दून और नालागढ़ विधानसभा क्षेत्रों का दौरा         बलाना-गोला संपर्क सड़क मार्ग के निर्माण कार्यों पर व्यय होंगे 6 लाख 25 हज़ार         जवाहर नवोदय विद्यालय में हिंदी पखवाड़ा का समापन समारोह आयोजित         जल्दी पूरी होंगी जायका चरण-दो के तहत बन रही सिंचाई योजनाएं-डॉ बलवीर  सिंह ठाकुर         पहली बार होगा शिमला फ्लाइंग फेस्टिवल का आयोजन, दुनियाभर से प्रतिभागी लेंगे हिस्सा

भूजल (ground water) उपयोगकर्ता 31 अगस्त तक करवाएं पंजीकरण

हिम न्यूज़, शिमला-  प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी दी कि हिमाचल प्रदेश में सभी मौजूदा भूजल (ground water )उपयोगकर्ताओं को हिमाचल प्रदेश भूजल (विकास और प्रबंधन का विनियमन और नियंत्रण) अधिनियम 2005 की धारा 8 के तहत 31 अगस्त, 2022 तक अपने मौजूदा भूजल संरचनाओं को फॉर्म-4 और 4-ए पर,www.emerginghimachal.hp.gov.in  या हिमाचल प्रदेश भूजल प्राधिकरण के पोर्टल www.hpiph.org  के माध्यम से पंजीकृत करवाना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में भूजल के सभी मौजूदा उपयोगकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे इस अंतिम अवसर का लाभ उठाएं व पंजीकरण प्रमाण पत्र के लिए www.emerginghimachal.hp.gov.in or www.hpiph.org पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन 31 अगस्त, 2022 या उससे पहले करें, उसके पश्चात भूजल प्राधिकरण के पोर्टल को निष्क्रिय कर दिया जाएगा और 31 अगस्त, 2022 के बाद किसी भी आवेदन पर विचार नहीं लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके उपरांत  मौजूदा टयूब बेल, बोर वेल और सक्रिय हैंड पम्प (घरेलू, सिंचाई, वाणिज्यक और औद्योगिक उद्देश्यों) जो हिमाचल प्रदेश ग्राउंड वॉटर अथॉरिटी शिमला के साथ पंजीकृत नहीं हैं, के अनाधिकृत उपयोगकर्ताओं के खिलाफ हिमाचल प्रदेश भूजल  (विकास और प्रबंधन के विनियमन और नियंत्रण) अधिनियम, 2005 और नियम, 2007 की विभिन्न धाराओं के तहत उचित कार्यवाई की जाएगी।