Breaking
डाक मतपत्र से वोट डाल सकेंगे आवश्यक सेवाओं में लगे मतदाता: डीसी         बैलेट पेपर एवं पोस्टल बैलेट पेपर प्रिंट करने के संबंध में बैठक आयोजित         उपायुक्त ने बीडीओ टूटू अनमोल को यूपीएससी परीक्षा पास करने पर दी बधाई         आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 7.85 करोड़ रुपये की जब्ती         अग्निवीर की ऑनलाइन परीक्षा 22 अप्रैल से         अपनी खीज मिटाने में जुटे कांग्रेस नेता - बिंदल         दुर्गाष्टमी के अवसर पर राजभवन में फलाहार ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन         बिजली रहेगी गुल         कांग्रेस पार्टी की नियत में खोट, 1500 महिलाओं को देना की इच्छा नहीं : त्रिलोक         भाजपा का संकल्प पत्र मोदी की गारंटी : बिंदल         बायोलचिम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने किया किसान संगोष्ठी का सफल आयोजन         भाजपा संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने कार्यकर्ताओं को चुनावी टिप्स         कंगना के साथ भाजपा नेता जयराम ठाकुर ने की दलाई लामा से मुलाकात         मतदाता पहचान पत्र बनाने के लिए नए मतदाता 4 मई तक कर सकते हैं आवेदन         आधुनिक हिमाचल के निर्माण में स्व. वीरभद्र सिंह ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका : यशवंत छाजटा         केंद्रीय विद्यालय सलोह में रिक्तियों के लिए आवेदन 25 अप्रैल तक         आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारी व कर्मचारी पोस्टल बेल्ट सुविधा से कर सकेंगे मतदान         परस राम धीमान और समर्थकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह से की मुलाकात         राहुल गाँधी की न्याय गारंटियों का प्रदेशभर में प्रचार करेंगी एनएसयूआई         भाजपा ने 1500 रुपये रुकवाकर महिलाओं को किया अपमानित : कांग्रेस

भूजल (ground water) उपयोगकर्ता 31 अगस्त तक करवाएं पंजीकरण

हिम न्यूज़, शिमला-  प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी दी कि हिमाचल प्रदेश में सभी मौजूदा भूजल (ground water )उपयोगकर्ताओं को हिमाचल प्रदेश भूजल (विकास और प्रबंधन का विनियमन और नियंत्रण) अधिनियम 2005 की धारा 8 के तहत 31 अगस्त, 2022 तक अपने मौजूदा भूजल संरचनाओं को फॉर्म-4 और 4-ए पर,www.emerginghimachal.hp.gov.in  या हिमाचल प्रदेश भूजल प्राधिकरण के पोर्टल www.hpiph.org  के माध्यम से पंजीकृत करवाना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में भूजल के सभी मौजूदा उपयोगकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे इस अंतिम अवसर का लाभ उठाएं व पंजीकरण प्रमाण पत्र के लिए www.emerginghimachal.hp.gov.in or www.hpiph.org पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन 31 अगस्त, 2022 या उससे पहले करें, उसके पश्चात भूजल प्राधिकरण के पोर्टल को निष्क्रिय कर दिया जाएगा और 31 अगस्त, 2022 के बाद किसी भी आवेदन पर विचार नहीं लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इसके उपरांत  मौजूदा टयूब बेल, बोर वेल और सक्रिय हैंड पम्प (घरेलू, सिंचाई, वाणिज्यक और औद्योगिक उद्देश्यों) जो हिमाचल प्रदेश ग्राउंड वॉटर अथॉरिटी शिमला के साथ पंजीकृत नहीं हैं, के अनाधिकृत उपयोगकर्ताओं के खिलाफ हिमाचल प्रदेश भूजल  (विकास और प्रबंधन के विनियमन और नियंत्रण) अधिनियम, 2005 और नियम, 2007 की विभिन्न धाराओं के तहत उचित कार्यवाई की जाएगी।