Breaking
चुनावों के लिये भाजपा नेताओं के पास कोई मुद्दा नही : संजय अवस्थी         मतदाता पहचान पत्र न होने पर वैकल्पिक दस्तावेज के साथ कर सकते हैं मतदान - उपायुक्त         कांगड़ा जिला में चार स्थान मतगणना के लिए प्रस्तावित - डीसी         कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें

निपुण भारत मिशन की प्रथम बैठक आयोजित

हिम न्यूज़, सोलन – उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी ने कहा कि निपुण भारत मिशन का मूल उद्देश्य आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता के सार्वभौमिक अधिग्रहण को सुनिश्चित करने के लिए एक सक्षम वातावरण बनाना है ताकि ग्रेड तीन का प्रत्येक बच्चा पढ़ने, लिखने और अंक गणित में पारंगत हो सके।

उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी आज यहां ज़िला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सोलन द्वारा आयोजित समग्र शिक्षा कार्यक्रम तथा निपुण भारत मिशन के तहत ज़िला स्तरीय सतर्कता समिति की प्रथम बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।

कृतिका कुलहरी ने कहा कि निपुण भारत अभियान का मूल उद्देश्य कक्षा तीन तक के बच्चों को आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान को विकसित करना है। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य कक्षा तीन तक के शत प्रतिशत बच्चों को पढ़ने, लिखने और संख्या ज्ञान में पारंगत बनाना है।

उपायुक्त ने कहा कि समग्र शिक्षा की अधोसंरचना को सुदृढ़ करने के लिए ज़िला के विभिन्न स्कूलों में कम्प्यूटर कक्ष, पुरस्तकालय, विज्ञान लेब, स्कूल के अतिरिक्त कमरों के लिए लगभग 573 लाख रुपये व्यय किए जा रहे है।

स्कूलों में प्री-प्राईमरी की कक्षाएं आरम्भ

कृतिका कुलहरी ने कहा कि नौनिहालों को शिक्षा के क्षेत्र में पारंगत बनाने के लिए ज़िला सोलन में 374 स्कूलों में प्री-प्राईमरी की कक्षाएं आरम्भ कर दी गई है जिसमें 3099 बच्चों को शिक्षा दी जा रही है। उन्होंने कहा कि ज़िला सोलन में गत वर्ष कक्षा प्रथम से आठवीं तक के 51,527 विद्यार्थियों को निःशुल्क वर्दियां और पुस्तकें वितरित की जा रही है।

उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से आग्रह किया कि वे स्कूली बच्चों को तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ संस्कारयुक्त शिक्षा प्रदान करें ताकि विद्यार्थियों का भविष्य उज्जवल बन सके।

इससे पूर्व ज़िला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सोलन के प्रधानाचार्य चंद्र मोहन शर्मा ने उपायुक्त सोलन कृतिका कुलहरी का स्वागत करते हुए बैठक में क्रमवार मदों को प्रस्तुत किया।

इस अवसर पर ज़िला परिषद सदस्य मनोज वर्मा, उपनिदेशक उच्च शिक्षा डॉ. जगदीश नेगी, उप निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा दीवान चंदेल, निपुण भारत मिशन के मीडिया समन्वयक डॉ. राम गोपाल शर्मा, ज़िला स्वास्थ्य अधिकारी सोलन डॉ. अमित रंजन तलवार, ज़िला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सोलन के प्रधानाचार्य चंद्र मोहन शर्मा, अनुसंधान एवं मूल्यांकन समन्वयक (डाईट) बबीता ठाकुर, प्रथम स्वयं सेवी संगठन के प्रतिनिधि रीता, समर्थ स्वयं सेवी संगठन के प्रतिनिधि आकाश सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।