Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

अनुराग सिंह ठाकुर ने किया शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले का धर्मशाला से शुभारंभ

हिम न्यूज़, धर्मशाला-   केन्द्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री  अनुराग सिंह ठाकुर बुधवार की सुबह पहली शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले के धर्मशाला में ठहराव से जुड़े समारोह में मुख्य अतिथि थे। इस ऐतिहासिक मशाल रिले का शुभारंभ प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी द्वारा रविवार 19 जून को नई दिल्ली के आईजी स्टेडियम में किया गया था।

यह शतरंज ओलंपियाड मशाल रिले भारत की आजादी के 75वें वर्ष के जश्न – आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर भारत के 75 शहरों से होकर गुजरेगी।

अनुराग सिंह ठाकुर ने एचपीसीए में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा, “भारत में शतरंज की एक लंबी विरासत और इतिहास है। हम चतुरंगा से शुरुआत करके शतरंज तक पहुंचे हैं।

” उन्होंने कहा, “शतरंज ओलंपियाड के इतिहास में पहली बार भारत इस प्रतियोगिता की मेजबानी कर रहा है और इसके लिए आजादी का अमृत महोत्सव से बेहतर कोई और मौका नहीं हो सकता था। शतरंज ओलंपियाड के दौरान कुल 188 देशों से  2000 से अधिक खिलाड़ी और 1000 अधिकारी भारत आयेंगे। मैं एआईसीएफ को इस कदम और उत्साही युवा शतरंज प्रेमियों को अपने वरिष्ठ समकक्षों व ग्रैंडमास्टरों से मिलने का मौका देने के लिए बधाई देता हूं।”

बुधवार को धर्मशाला स्थित एचपीसीए में आयोजित मशाल रिले समारोह में हिमाचल प्रदेश सरकार के युवा सेवा एवं खेल तथा वन मंत्री  राकेश पठानिया, अखिल भारतीय शतरंज महासंघ के महासचिव  भरत सिंह चौहान के साथ – साथ खेल मंत्रालय, भारतीय खेल प्राधिकरण और एआईसीएफ के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

युवा खिलाडियों सहित 500 लोगों ने भाग लिया

एचपीसीए में आयोजित इस कार्यक्रम में स्कूली छात्रों, धर्मशाला स्थित साई केंद्र के एथलीटों, एनवाईकेएस के स्वयंसेवकों और हिमाचल शतरंज संघ से जुड़े युवा खिलाडियों सहित 500 लोगों ने भाग लिया। शतरंज के ग्रैंडमास्टर दीप सेनगुप्ता इस मशाल को श्री ठाकुर को सौंपने और फिर बाद में दिन में इसे आगे शिमला ले जाने के लिए उपस्थित थे।

इस मशाल रिले के शुभारंभ समारोह को याद करते हुए, श्री ठाकुर ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी जी ने इस ऐतिहासिक मशाल रिले की शुरुआत की और उस दिन लगभग 10000 लोग इस कार्यक्रम को लाइव देखने के लिए उपस्थित थे। अब हमें इस लौ को देश के कोने-कोने तक पहुंचाना है और इस खेल का प्रसार भारत के कोने-कोने में करना है। केन्द्रीय खेल मंत्री और एक खेल प्रेमी होने के नाते मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि हिमाचल और भारत में शतरंज को लोकप्रिय बनाने में कोई कसर न छूटे।”

44वां फिडे शतरंज ओलंपियाड 28 जुलाई से 10 अगस्त 2022 के दौरान चेन्नई में आयोजित किया जाएगा।