Breaking
पदमश्री विद्यानंद सरैक होंगे सिरमौर के जिला आईकन         अतिरिक्त व्यय पर्यवेक्षकों के लिए कार्यशाला आयोजित         राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर विजेताओं को कुलपति डाक्टर डी.के.वत्स ने किया पुरस्कृत         विद्यार्थियों ने बनाए चंद्रयान व सौर मंडल के मॉडल         परोल स्कूल में ‘स्वीप’ के तहत आयोजित किया गया जागरुकता कार्यक्रम         बालासुंदरी चैत्र नवरात्र मेला 9 अप्रैल से 23 अप्रैल 2024 तक अयोजित होगा-एल.आर.वर्मा         मतदान फीसद बढ़ाने के लिए योजना पूर्वक करें प्रयास : अपूर्व देवगन         कांगड़ा जिला में मतदाता जारूकता अभियान पर करेंगे विशेष फोक्स: डीसी         मेधा प्रोत्साहन योजना के अभ्यर्थियों की अस्थाई सूची जारी         राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खल्याणी में जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन         कुल्लू में विद्यालय मृदा स्वास्थय कार्यक्रम पर जागरूकता शिविर का आयोजन         हिमतरु प्रकाशन समिति तथा भाषा एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित         निर्वाचन के दृष्टिगत गठित टीमों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित         नवोदय विद्यालय में बताया मिट्टी के परीक्षण का महत्व         निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू निर्वहन में नोडल अधिकारियों की अहम भूमिका: डीसी         9 अप्रैल को आयोजित होंगी लोक अदालतें         31 मार्च 2024 तक निर्धारित लक्ष्य पूरा करें सभी विभाग-सुमित खिमटा         जीत से बड़ा मनोबल, इतिहास बदला : बिंदल         प्लांट एवं मशीनरी में 721.78 करोड़ रुपये का निवेश         राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन

सीपुर में आयुर्वेद औषधालय तथा कनहोला में स्वास्थ्य उप-केन्द्र खोलने की घोषणा की

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां जिला शिमला के मशोबरा के समीप सीपुर में जिला स्तरीय सीपुर मेले के समापन समारोह के अवसर पर विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए सीपुर में आयुर्वेद औषधालय तथा कनहोला में स्वास्थ्य उप-केन्द्र खोलने की घोषणा की।

उन्होंने ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देवी-देवताओं की भूमि है तथा लोग स्थानीय देवी-देवताओं पर बहुत विश्वास रखते हैं।

जय राम ठाकुर ने  कहा कि उत्सव समाज की भावनात्मक तथा सामाजिक एकता को बनाए रखने में भी सहायक सिद्ध होते हैं।  अपनी संस्कृति व परम्पराओं को आने वाली पीढ़ियों के लिए संरक्षित रखना प्रत्येक जिम्मेदार नागरिक का कर्तव्य है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केवल वह समाज ही उन्नति व खुशहाली प्राप्त करता हैं, जो अपनी परम्पराओं व संस्कृति का सम्मान करता हैं।  उन्होंने घोषणा की है कि जल शक्ति विभाग के तहत आने वाली क्रैगनेनो-शुहल सड़क को उचित रख-रखाव के लिए लोक निर्माण विभाग को हस्तांतरित किया जाएगा।

उन्होंने ढली से शिरदू सड़क के रख-रखाव के लिए 8 लाख रुपये तथा ग्राम पंचायत पधेची-भरांडी में खेल मैदान के निर्माण के लिए 7 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मशोबरा के नाम भूमि हस्तांतरित की जाएगी। उन्होंने इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले स्थानीय विद्यालय के विद्यार्थियों को अपनी ऐच्छिक निधि से 21000 रुपये देने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी पुरस्कार वितरित किए।

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने क्षेत्र के लोगों को मेले की बधाई देते हुए कहा कि मेले एवं उत्सव सदियों से मनोरंजन का साधन रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह मेले एवं उत्सव लोगों को सामाजिक गतिविधियों से जुड़ने के अवसर भी प्रदान करते हैं। ग्राम पंचायत मशोबरा की प्रधान गायत्री देवी ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा क्षेत्र की विभिन्न मांगों की विस्तृत जानकारी भी दी।

चौपाल के विधायक बलबीर वर्मा, पूर्व विधायक रूप दास कश्यप तथा भगतराम चौहान, क्षेत्र के भाजपा नेता विजय ज्योति सेन, कैलाश फेडरेशन तथा जिला भाजपा के अध्यक्ष रवि मेहता, एपीएमसी के अध्यक्ष नरेश शर्मा, सक्षम गुड़िया बोर्ड की उपाध्यक्ष रूपा शर्मा, उपायुक्त शिमला आदित्य नेगी भी अन्य सहित इस अवसर पर उपस्थित थे।