Breaking
चुनावों के लिये भाजपा नेताओं के पास कोई मुद्दा नही : संजय अवस्थी         मतदाता पहचान पत्र न होने पर वैकल्पिक दस्तावेज के साथ कर सकते हैं मतदान - उपायुक्त         कांगड़ा जिला में चार स्थान मतगणना के लिए प्रस्तावित - डीसी         कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें

मुख्यमंत्री ने किया श्री रेणुका जी में 80 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज सिरमौर जिले के हरिपुरधार में तीन दिवसीय मां भंगयाणी मेले के समापन समारोह की अध्यक्षता करते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हरिपुरधार को नागरिक अस्पताल, पशु औषधालय भरोग-भनेड़ी को पशु अस्पताल, स्वास्थ्य उप-केंद्र तारे को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, राजकीय माध्यमिक विद्यालय, सैल, जार गराबी और थाना करोड़ को राजकीय उच्च विद्यालय, राजकीय उच्च विद्यालय देवड़ी खराहन और चौरस को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में स्तरोन्नत करनेे की घोषणा की।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सैल में पटवार वृत्त खोलने और हरिपुरधार मेला मैदान में मंच के लिए 15 लाख रुपये की राशि प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि नायब तहसीलदार नोराधार सप्ताह के दो दिन बोघधार में बैठेंगे।

उन्होंने कहा कि देश के 135 करोड़ से अधिक लोगों को निःशुल्क दो खुराकें प्रदान की गई हैं। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस नेताओं ने भाजपा सरकार की इस पहल का भी विरोध किया लेकिन टीका लगवाने में जरूर आगे रहे।

उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान ये नेता शीत निद्रा में चले गए थे, वहीं दूसरी ओर भाजपा के नेताओं ने न केवल जरूरतमंदों को फेस मास्क और अन्य सहायता प्रदान की, बल्कि भाजपा सरकार ने राज्य में स्वास्थ्य अधोसंरचना को भी सुदृढ़ किया।

उन्होंने कहा कि राज्य में 11000 मेगावाट से अधिक बिजली का उत्पादन किया जा रहा है और जरूरतमंदों को निःशुल्क बिजली उपलब्ध करवाना जन-हितैषी सरकार का कर्तव्य बन जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के इस निर्णय से राज्य के लगभग 11 लाख परिवार लाभान्वित होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने महिला सशक्तिकरण के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने स्वयं सहायता समूहों को 25 हजार रुपये का रिवॉलविंग फंड प्रदान करने का निर्णय लिया है ताकि वे अपना उद्यम शुरू कर सकें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिलाओं को बस किराए में 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया है।

जय राम ठाकुर ने कांग्रेस पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से बिखरी हुई पार्टी है और कांग्रेस नेताओं को एकजुट करने के लिए हिमाचल जैसे छोटे राज्य में चार कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की गई है।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने सिरमौर जिले के श्री रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र के लिए हरिपुरधार में लगभग 80 करोड़ रुपये की 22 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए।

सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार के समक्ष हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा देने का विषय अनेक बार उठाया। उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री के प्रयासों से ही संभव हो पाया है कि केन्द्रीय मंत्री ने 3 लाख से अधिक हाटी समुदाय के लोगों की मांग को सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान की है।

ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने जिला के ट्रांसगिरि क्षेत्र को जनजातीय दर्जा दिलवाने के लिए प्रयास करने के लिए मुख्यमंत्री तथा अन्य नेताओं का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी के कारण यह क्षेत्र उत्तराखंड के जौनसार बावर के समान जनजातीय दर्जा हासिल नहीं कर सका, जिसे 54 वर्ष पूर्व यह दर्जा प्राप्त हो गया था।