Breaking
कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें         हिमाचल की सभी लोकसभा व उपचुनाव विधानसभा की सभी सीटें जीतेंगे बड़े अंतर से: अनुराग ठाकुर         मुख्यमंत्री बहुत तनाव में हैं इसलिए कर रहे हैं उल्टी सीधी बयानबाज़ी : जयराम ठाकुर         जनता को परेशान कर रही है परेशान कांग्रेस सरकार : सुखराम

प्रधानमंत्री 13 मई को मध्यप्रदेश स्टार्ट-अप संगोष्ठी शुभारंभ करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इंदौर में आयोजित होने वाली मध्यप्रदेश स्टार्ट-अप संगोष्ठी के दौरान 13 मई, 2022 को सायं सात बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मध्यप्रदेश स्टार्ट-अप नीति का शुभारंभ करेंगे। वे मध्यप्रदेश स्टार्ट-अप पोर्टल की भी शुरूआत करेंगे, जिससे स्टार्ट-अप इको-सिस्टम को प्रोत्साहन देने में सुविधा होगी।

मध्यप्रदेश स्टार्ट-अप संगोष्ठी में स्टार्ट-अप इको-सिस्टम के विभिन्न दिग्गज हिस्सा लेंगे, जिनमें सरकार और निजी क्षेत्र के नीति-निर्माता, नवोन्मेषक, उद्यमी, अकादमीशियन, निवेशक, परामर्शदाता और अन्य हितधारक शामिल हैं। संगोष्ठी के दौरान विभिन्न प्रकार के सत्रों का आयोजन किया जायेग। इनमें आपसी परामर्श के सत्र को रखा गया है, जिसमें सभी स्टार्ट-अप को शिक्षा संस्थानों तथा स्टार्ट-अप स्पेस की हस्तियों से चर्चा करने का अवसर मिलेगा। इसके साथ ही स्टार्ट-अप कैसे शुरू किया जाये, इस पर भी एक सत्र होगा। इस सत्र में नीति-निर्माता मार्गदर्शन करेंगे। प्रोत्साहन सत्र में स्टार्ट-अप को मौका मिलेगा कि वे निवेशकों का सहयोग प्राप्त करें और वित्तपोषण के लिये अपने विचार बता सकें। इको-सिस्टम सत्र में प्रतिभागियों को ब्रांड वैल्यू के बारे में तथा राज्य में स्टार्ट-अप इको-सिस्टम को बढ़ावा देने की जानकारी मिलेगी। एक स्टार्ट-अप एक्सपो भी होगा, जिसमें नये रुझानों और नवोन्मेषों के बारे में बताया जायेगा।