Breaking
कंगना की टिकट घोषित होने से कांग्रेस के सभी नेता परेशान : बिहारी लाल         आपदा के पैसे को लूटने का काम कांग्रेस ने किया : कंगना         नये वोटरों को किया जागरूक         न्याय पत्र में कांग्रेस पार्टी ने ओल्ड पेंशन स्कीम पर चुप्पी साधी : सहजल         राज्यपाल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया         उपायुक्त ने बल्ह विधानसभा के चार पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण         पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डीसी         100 कि.मी. के ट्रेल में धावक 30 पंचायतों में देंगे मतदान के महत्व की जानकारी         9 उपचुनावों के लिए बिंदल ने तैनात किए चुनाव प्रभारी से प्रभारी और सहयोगी          हिमाचल को मोदी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में बनाया आत्मनिर्भर: अनुराग ठाकुर         स्व. बाबूराम की याद में लांच किया कैलेंडर         बसोआ पर्व के मौके पर यूनिवर्सिटी परिसर में किया गया खीर व पिंदड़ी वितरण         मुख्यमंत्री के कारण बिगड़ा सरकार का गणित : बलबीर वर्मा         एसडीएम ने जारी किया स्थानीय भाषा में तैयार मतदाता प्रेेरक साॅन्ग         वोटर कार्ड नहीं है तो वैकल्पिक दस्तावेज के साथ करें मतदान: डीसी         प्रदेश की भावी राजनीति की दिशा व दशा तय करेंगे यह चुनाव परिणाम : प्रतिभा सिंह         हमीरपुर के तीनों न्यायिक परिसरों में 11 मई को लगेंगी लोक अदालतें         हिमाचल की सभी लोकसभा व उपचुनाव विधानसभा की सभी सीटें जीतेंगे बड़े अंतर से: अनुराग ठाकुर         मुख्यमंत्री बहुत तनाव में हैं इसलिए कर रहे हैं उल्टी सीधी बयानबाज़ी : जयराम ठाकुर         जनता को परेशान कर रही है परेशान कांग्रेस सरकार : सुखराम

तीन देशों के राजनयिकों ने राष्ट्रपति से मिले

राष्ट्रपति   राम नाथ कोविंद ने बुधवार को  राष्ट्रपति भवन में स्लोवाक गणराज्य, सूडान गणराज्य और नेपाल के राजदूतों से मुलाकात कर उनके  परिचय पत्र स्वीकार किए। इनमे स्लोवाक गणराज्य के राजदूत रॉबर्ट मैक्सियन, , सूडान गणराज्य के राजदूत अब्दुल्ला उमर बशीर अलहुसैन और नेपाल के राजदूत डॉ. शंकर प्रसाद शर्मा, हैं,

 

परिचय पत्र स्वीकार करने के बाद राष्ट्रपति ने तीनों राजनयिकों के साथ अलग-अलग बातचीत की। उन्होंने राजनयिकों को उनकी नियुक्तियों पर बधाई दी और उनके देशों के साथ भारत के गर्मजोशी और मैत्रीपूर्ण संबंधों के बारे में और उनमें से प्रत्येक के साथ भारत के बहुआयामी संबंधों पर जोर दिया। राष्ट्रपति ने राजदूतों को द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने, उनके कल्याण तथा उनके देशों के मैत्रीपूर्ण लोगों की प्रगति और समृद्धि के लिए भी अपनी शुभकामनाएं दीं।

राष्ट्रपति ने राजदूतों के माध्यम से उनके राष्ट्राध्यक्षों को अपने व्यक्तिगत सम्मान से भी अवगत कराया। इस कार्यक्रम में मौजूद राजनयिकों ने भारत के साथ अपने संबंधों को मजबूत बनाने के लिए मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।